52nd इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) 2021 » Pratiyogita Today
प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी हेतु डिस्कसन करने के लिए हमारे फोरम पर जाएं।  Ask a Question

52nd इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) 2021

शिक्षा मनोविज्ञान क्विज़ - Let's Start

• 52 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) 2021

52nd इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI)  गोवा में 20 नवंबर से 28 नवंबर 2021 के दौरान आयोजित किया जा रहा है।

International Film Festival of India (IFFI) को एशिया के सबसे पुराने और भारत के सबसे बड़े अंतर्राष्ट्रीय फिल्म समारोहों में से एक माना जाता है। जनवरी 2021 में आयोजित IFFI के 51nd इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल की शानदार सफलता को देखते हुए IFFI का 52वां संस्करण एक हाइब्रिड प्रारूप (लोग इस कार्यक्रम को स्वयं उपस्थित रहकर और ऑनलाइन भी देख सकेंगे) में आयोजित किया जा रहा है। 52 वें फिल्म महोत्सव के आयोजन में भी महोत्सव सम्बन्धी गतिविधियों में वर्चुअल माध्यम से शामिल होने का अवसर दिया गया है। कई फिल्मों को ऑनलाइन भी दिखाया जायेगा।

इस महोत्सव का आयोजन भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय के फिल्म महोत्सव निदेशालय (DFF) द्वारा गोवा की राज्य सरकार और भारतीय फिल्म उद्योग के सहयोग से किया जा रहा है।

भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव को इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म प्रोड्यूसर्स एसोसिएशन (FIAPF) से मान्यता प्राप्त है। हर साल फिल्म महोत्सव के दौरान चलचित्र संबंधी कुछ बेहतरीन कार्यों को सराहा जाता है और भारत एवं दुनियाभर की सर्वश्रेष्ठ फिल्में दिखाई जाती हैं।

भारतीय सिनेमा के दिग्‍गज श्री सत्यजीत रे की जन्मशताब्दी के अवसर पर इस बार सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का फिल्म महोत्‍सव निदेशालय IFFI में एक विशेष पूर्वावलोकन के माध्यम से उन्‍हें श्रद्धांजलि अर्पित करेगा।

इसके अलावा, इस महान शख्सियत की विरासत को सराहते हुए ‘सिनेमा में उत्कृष्टता के लिए सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड’ को इसी वर्ष से प्रदान करना शुरू किया गया है, जिसे हर साल IFFI में प्रदान किया जाएगा।

पहली बार ब्रिक्स फ़िल्म महोत्सव को 20 से 28 November, 2021 के दौरान गोवा में आयोजित इफ्फी महोत्सव के साथ-साथ आयोजित किया गया है। ये ब्रिक्स फ़िल्म महोत्सव का 6th संस्करण है जिसमें 5 देशों ब्राजील, रूस, भारत, चीन और दक्षिण अफ्रीका की फ़िल्मों के ख़ास पैकेज को दिखाया गया है।

• 52वें IFFI, 2021 के लिए भारतीय पैनोरमा का चयन

👉 भारतीय फीचर फिल्म सुश्री एमी बरुआ द्वारा निर्देशित फिल्म खंड का उद्घाटन ‘सेमखोर’ (दिमासा) से हुआ।

👉 राजीव प्रकाश द्वारा निर्देशित ‘वेद… द विजनरी’ (अंग्रेजी) से भारतीय गैर-फीचर फिल्म खंड का उद्घाटन हुआ।

👉 IFFI के दौरान 24 फीचर फिल्म और 20 गैर-फीचर फिल्में दिखाई जाएंगी।

• अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता के लिए 15 फिल्मों की सूची बनाई गई

अन्तर्राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भारतीय प्रविष्टियों के रूप में गोदावरी, मी वसंतराव और सेमखोर शामिल हैं।

इस खंड में प्रतिस्पर्धा करने के लिए विश्व भर से फीचर श्रेणी की सर्वश्रेष्ठ फिक्शन फिल्मों का चयन किया जाता है। यह फिल्मोत्सव के सबसे महत्वपूर्ण वर्गों में से एक है जिसमें वर्ष की कुछ सर्वश्रेष्ठ फिल्में शामिल हैं और इन 15 फिल्मों के बीच सर्वश्रेष्ठ फिल्म (गोल्डन पीकॉक), सर्वश्रेष्ठ निर्देशक/अभिनेता/विशेष जूरी (सिल्वर पीकॉक) जैसे पुरस्कारों के लिए कोम्पिटिशन होता है।

• International Film Festival of India (IFFI) 2021

Venue – Goa (India)

Starting – 20 November 2021

Close – 28 November 2021

अवार्ड (Award) –

1. गोल्डन पिकॉक अवार्ड 2021 (सर्वश्रेष्ठ फिल्म) –

इस पुरस्कार के अंतर्गत ₹40,00,000/- का नकद पुरस्कार और निर्देशक तथा निर्माता के मध्य समान रूप से वितरित किया जाता है। निर्देशक को नकद राशि के अलावा गोल्डन पीकॉक और एक प्रमाण पत्र प्राप्त होगा। निर्माता को नकद राशि के अलावा एक प्रमाण पत्र प्रदान किया जाएगा। विजेता – जापानी निर्देशक मासाकाजू केन्येको की फिल्म रिंग वंडरिंग को।

2. सिल्वर पिकॉक अवार्ड 2021

सर्वश्रेष्ठ निर्देशक : सिल्वर पीकॉक, प्रमाण पत्र और 15,00,000/- रुपए का नकद पुरस्कार। विजेता – चेक गणराज्य निर्देशक वाक्लाव कद्रनका को ‘सेविंग वन हू इज डेड’ के लिए।

सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (पुरुष) : सिल्वर पीकॉक, प्रमाण पत्र और 10,00,000/- रुपये का नकद पुरस्कार। विजेता – फिल्म गोदावरी में किए गए अभिनय के लिए जितेन्द्र जोशी को।

सर्वश्रेष्ठ अभिनेता(महिला) : सिल्वर पीकॉक, प्रमाण पत्र और 10,00,000/- रुपये का नकद पुरस्कार। विजेता – पराग्वे की एंजेला मोलिना को।

स्पेशल जूरी अवार्ड फॉर लाइफ टाइम अचीवमेंट – इंडियन पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर 2021 – सिल्वर पीकॉक, प्रमाण पत्र और 15,00,000/- रुपये का नकद पुरस्कार एक फिल्म (फिल्म के किसी भी पहलू के लिए जिसे जूरी पुरस्कार/स्वीकृति देना चाहती है) या एक व्यक्ति (उसके एक फिल्म में कलात्मक योगदान के लिए) को दिया जाता है। पुरस्कार, यदि किसी फिल्म को दिया जाता है, तो फिल्म के निर्देशक को दिया जाएगा। विजेता – ब्राजील के रेनाता कार्वाल्हो को फिल्म फर्स्ट फालन में अभिनय के लिए और फिल्म गोदावरी को।

सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2021 – विजेता – हंगेरियन फिल्म निर्माता इस्तेवन स्जाबो और हॉलीवुड फिल्म निर्माता मार्टिन स्कॉर्सेस को।

इंडियन फिल्म पर्सनैलिटी ऑफ द ईयर अवॉर्ड 2021 – सुश्री हेमा मालिनी (अभिनेत्री और उत्तर प्रदेश के मथुरा से सांसद) और श्री प्रसून जोशी (गीतकार और अध्यक्ष, सीबीएफसी) को।

Hosted – Government of Goa and Directorate of Film Festivals

• भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव का उद्देश्य

महोत्सव का उद्देश्य दुनिया के फिल्म निर्माताओं को अपने प्रोजेक्ट के लिए एक साझा मंच प्रदान करना है। फिल्म कला में उत्कृष्टता की, फिल्म संस्कृतियों की समझ और प्रशंसा में योगदान करना। अपने सामाजिक और सांस्कृतिक लोकाचार के संदर्भ में विभिन्न राष्ट्र और दुनिया के लोगों के बीच सहयोग और दोस्ती को बढ़ावा देना है।

• इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) की शुरुआत कब हुई थी

1952 में स्थापित भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) एशिया के सबसे महत्वपूर्ण फिल्म समारोहों में से एक है। यह महोत्सव सालाना आयोजित किया जाता है।

वर्तमान में गोवा राज्य में (देश के पश्चिमी तट पर) आयोजित किया जाता है। महोत्सव का उद्देश्य दुनिया के सिनेमाघरों के लिए फिल्म कला की उत्कृष्टता को प्रदर्शित करने के लिए एक आम मंच प्रदान करना है।

विभिन्न राष्ट्रों की फिल्म संस्कृतियों को उनके सामाजिक और सांस्कृतिक लोकाचार के संदर्भ में समझने और उनकी सराहना करने में योगदान देना और दुनिया के लोगों के बीच दोस्ती और सहयोग को बढ़ावा देना।

यह महोत्सव फिल्म समारोह निदेशालय (सूचना और प्रसारण मंत्रालय के तहत) और गोवा राज्य सरकार द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित किया जाता है।

• इंडियन इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (IFFI) के बारे में

IFFI के पहले संस्करण का आयोजन भारत सरकार के फिल्म प्रभाग द्वारा भारत के पहले प्रधानमंत्री के संरक्षण में किया गया था। 24 जनवरी से 1 फरवरी 1952 तक मुंबई में आयोजित इस महोत्सव को बाद में मद्रास, दिल्ली, कलकत्ता और त्रिवेंद्रम ले जाया गया। इसमें कुल मिलाकर लगभग 40 फीचर और 100 लघु फिल्में थीं। दिल्ली में IFFI का उद्घाटन 21 फरवरी 1952 को प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा किया गया था।

पहला संस्करण गैर-प्रतिस्पर्धी था, जिसमें संयुक्त राज्य अमेरिका सहित 23 देशों ने 40 फीचर फिल्मों और लगभग 100 लघु फिल्मों ने भाग लिया था। यह एशिया में कहीं भी आयोजित होने वाला पहला अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव था।

1961 में आयोजित दूसरे भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म उत्सव का स्थान नई दिल्ली था, जो गैर-प्रतिस्पर्धी भी था।

जनवरी 1965 में तीसरे संस्करण से भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव प्रतिस्पर्धी बन गया। तब से यह केरल की राजधानी त्रिवेंद्रम में स्थानांतरित हो गया है। इस संस्करण की अध्यक्षता सत्यजीत रे ने की थी।

1975 में गैर-प्रतिस्पर्धी और वैकल्पिक वर्षों में अन्य फिल्म-निर्माण शहरों में आयोजित होने वाला फिल्मोत्सव शुरू किया गया था। बाद में फिल्मोत्सव को IFFI में मिला दिया गया। 2004 में IFFI को त्रिवेंद्रम से गोवा ले जाया गया था। तब से IFFI एक वार्षिक आयोजन और प्रतिस्पर्धी रहा है।

भारत ने 1952 से 51 अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (आईएफएफआई) की मेजबानी की है जो प्रतिस्पर्धी और गैर-प्रतिस्पर्धी दोनों तरह के है। यह उत्सव 1975 के बाद से एक वार्षिक कार्यक्रम बन गया।

भारत ने 1975 में अपने 5 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में एक स्थायी प्रतीक चिन्ह ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ (पूरी दुनिया एक परिवार है) महोत्सव के स्थायी आदर्श वाक्य के साथ अपनाया।

52nd international Film Festival of India 2021

भारत के राष्ट्रीय पक्षी मोर का इस महोत्सव के प्रतिक में प्रतिनिधित्व शामिल है। उसी वर्ष आईएफएफआई के साथ बारी-बारी से फिल्मोत्सव का एक गैर-प्रतिस्पर्धी उत्सव आयोजित करने का निर्णय लिया गया। जबकि फिल्मोत्सव भारत के प्रमुख फिल्म-निर्माण केंद्रों में आयोजित किए गए थे। IFFI केवल नई दिल्ली में आयोजित किया गया था।

• अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न (FAQs)

Q. 01. IFFI किस वर्ष गोवा में शुरू हुआ?

Ans – 1952 में।

Q. 02. भारत का 51 वां अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव IFFI किस राज्य में आयोजित किया गया?

Ans – गोवा (भारत)

Q. 03. IFFI का पूरा नाम क्या है?

Ans – International Film Festival of India

Q. 04. अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में एक स्थायी प्रतीक चिन्ह क्या है?

Ans – वसुधैव कुटुम्बकम’ (पूरी दुनिया एक परिवार है)। यह प्रतिक चिन्ह 1975 में 5 वें अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में अपनाया गया?

Q. 05. 52 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) कब और कहां आयोजित किया जाएगा?

Ans – 52 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) गोवा में 20-28 नवंबर 2021 के दौरान आयोजित किया जाएगा।

Q. 06. सिनेमा में उत्कृष्टता के लिए ‘सत्यजीत रे लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड’ को कौन-से वर्ष से प्रदान करना शुरू किया गया है?

Ans – 2021 में 52 वां भारतीय अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव (IFFI) से।

Also Read :

1. Fit India Freedom Run 2.0

Sharing Is Caring:  
About Mahender Kumar

My Name is Mahender Kumar and I do teaching work. I am interested in studying and teaching compititive exams. My education qualification is B. A., B. Ed., M. A. (Political Science & Hindi).

Leave a Comment